Types Of Tax | कर के प्रकार | How Many Types Of Tax In India

दोस्तों इस पोस्ट में हम लोग कर (TAX) को समझेंगे… How Many Types Of Tax In India से संबंधित सभी जानकारी इस पोस्ट में आपको दिए जा रहे हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें…

How Many Types Of Tax In India

कर के प्रकार (Types Of Tax) : How Many Types Of Tax In India तो कर दो तरह के होते हैं जो कि निम्न है :-

  • प्रत्यक्ष कर
  • अप्रत्यक्ष कर
  • केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए कर
  • राज्य सरकार द्वारा लगाए गए कर

प्रत्यक्ष कर :- प्रत्यक्ष कर वह कर है जिसमें कर का प्रारंभिक भुगतान करने वाला व्यक्ति ही कर का अंतिम भार वहन करता है अर्थात प्रत्यक्ष कर में कर के भार को दूसरे पर टालने की संभावना नहीं होती

प्रत्यक्ष कर के उदाहरण :- आय कर, संपत्ति कर, उपहार कर, निगम कर आदि।

अप्रत्यक्ष कर :- वह कर जिसे सीधे जनता से नहीं लिया जाता किंतु जिसका बोझ प्रकारान्तर से उसी पर पड़ता है, अप्रत्यक्ष कर कहलाते हैं। देश में तैयार किए गए वस्तुओं पर लगने वाला उत्पादन शुल्क, आयात या निर्यात किए जाने वाले वस्तुओं पर लगने वाले सीमा शुल्क आदि अप्रत्यक्ष कर हैं।

अप्रत्यक्ष कर के उदाहरण:- बिक्री कर, तट कर, उत्पाद कर, सीमा शुल्क आदि।

केंद्र सरकार द्वारा लगाए जाने वाले कर :- आय कर, निगम कर, संपत्ति पर कर, उत्तराधिकार कर, धन कर, उपहार कर, सीमा शुल्क, कृषि धन पर कर आदि।

राज्य सरकार द्वारा लगाए जाने वाले कर :- भूराजस्व कर, कृषि आय कर, कृषि जोत कर, बिक्री कर, राज्य उत्पादन शुल्क, मनोरंजन कर, स्टाम्प शुल्क, पथ कर, मोटर वाहन कर, व्यावसायिक कर आदि।

अन्य जानकारी :-

  • केंद्र को सर्वाधिक निवल राजश्व की प्राप्ति सीमा शुल्कों से होती है। सीमा शुल्क से प्राप्त राजस्व का बंटवारा राज्यों को नहीं करना होता है।
  • कर ढांचे में सुधार के लिए सुझाव देने हेतु चेलैया समिति का गठन अगस्त 1991 में किया गया था।
  • छोटे व्यापारियों के लिए एकमुश्त आयकर योजना की शिफारिश चेलैया समिति ने की थी।
  • चेलैया समिति ने गैर कृषिकों की 25 हजार रुपये से अधिक वार्षिक कृषि आय पर आयकर लगाने की संस्तुति की थी।
Share With Friends or Family:-
error: Content is protected !!